Content on this page requires a newer version of Adobe Flash Player.

Get Adobe Flash player


Enter Unique-ID of child

UserName : Password :
Site Partner Sony College

दिए गए आंकडें पूर्णतः प्रमाणिक नही हैं दिनांक 01-01-2006 से 23-11-2014 तक पंजीकृत बच्चो की संख्या 0 से 5 वर्ष तक उम्र के कुल बच्चे 5 से 6 उम्र के कुल बच्चे कुल गर्भबती कुल धात्री vDVwcj-2014 में 0 से 5 वर्ष तक उम्र के बच्चे

सामान्य वजन कम वजन अति कम वजन बालक एवं बालिकाएं बालक बालिकाएं

Welcome to our site...

Anganwadi is a government sponsored child-care and mother-care center in India. It caters to children in the 0-6 age group. The word means "courtyard shelter" in Hindi. They were started by the Indian government in 1975 as part of the Integrated Child Development Services program to combat child hunger and malnutrition.

Contents

1 System of workers

2 Challenges and solutions

3 International efforts

4 References


System of workers

The Anganwadi system is mainly managed by the Anganwadi worker. She is a health worker chosen from the community and given 4 months training in health, nutrition and child-care. She is incharge of an Anganwadi which covers a population of 1000. 20 to 25 Anganwadi workers are supervised by a Supervisor called Mukhyasevika. 4 Mukhyasevikas are headed by a Child Development Projects Officer (CDPO).

There are an estimated 1.053 million anganwadi centers employing 1.8 million mostly-female workers and helpers across the country. They provide outreach services to poor families in need of immunization, healthy food, clean water, clean toilets and a learning environment for infants, toddlers and pre-schoolers. They also provide similar services for expectant and nursing mothers. According to government figures, anganwadis reach about 58.1 million children and 10.23 million pregnant or lactating women.

Anganwadis are India's primary tool against the scourges of child malnourishment, infant mortality and curbing preventable diseases such as polio. While infant mortality has declined in recent years
Collector Message सन्देश :-

बच्चों में पोषण का स्तर के सम्रग विकास का महत्वपूर्ण सूचकांक है। अतः मान. मुख्यमंत्री जी, म.प्र. शासन के "आओ मघ्यप्रदेश बनाये कार्यक्रम" अंर्तगत सिवनी जिले में "कुपोषण मुक्त सिवनी" का लक्ष्य तय किया गया है। बच्चों में स्वास्थ्य एवं पोषण स्थिति को बेहतर बनाने के लिये समस्त हितग्राहियों का चिन्हांकन एवं उन तक सभी आवश्यक सेवाओं की गुणवत्तापूर्ण पहुँच के साथ-साथ कुपोषण के कारण,उसके दुष्परिणाम एवं उससे निपटने के लिये जन चेतना,जनभागीदारी एवं सहभागिता हमारी कुपोषण से लड़ाई की कार्ययोजना का महत्वपूर्ण अंग है। गर्भवती महिलाओं,धात्री माता, किशोरी बालिकाओं एवं 0-6 वर्ष आयु के सभी बच्चों के शत-प्रतिशत पंजीयन, उन्हें पोषण आहार, टीकाकरण, स्वास्थ्य जांच एवं बच्चों के वजन पर निगरानी आदि सभी अनिवार्य सेवाओें के अनुश्रवण की पर्याप्त व्यवस्था एवं निर्धारित समयावधि में उपलब्धियों के आंकलन हेतु जिले के लिये सोफ्टवेयर तैयार कराया गया है। इन जानकारियों के माघ्यम से अन्तर्विभागीय प्रयास कुपोषण मुक्त सिवनी के लक्ष्य प्राप्त किये जायेगें।

मनोहर दुबे
(कलेक्टर एवं जिलादण्डाधिकारी)
जिला सिवनी (म.प्र.)
Mahila Balvikas Adhikari सन्देश :-

माननीय मुख्यमंत्रीजी द्वारा महिलाओं एवं बच्चों के विकास की दिशा में किये जा रहे प्रयासों की कड़ी में जिला कलेक्टर सिवनी द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग के हितग्राहियों की ऑनलाइन फीड़िंग का कार्य, साफ्टवेयर तैयार कराकर कराया जा रहा है। निश्चित ही इस अभिनव प्रयास से दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों तक के प्रत्येक हितग्राहियों को विभाग द्वारा दी जा रही सेवाओं की मानीटरिंग जिला स्तर पर सुनिश्चित की जा सकेगी। जिससे शत् प्रतिशत हितग्राहियों को सभी आवश्यक सेवायें उपलब्ध कराने की दिशा में यह साफ्टवेयर उपयोगी सिद्ध होगा। ''स्वस्थ्य बच्चे स्वस्थ्य समाज'' की अवधारणा के अनुरूप किये जा रहे उक्त प्रयास निश्चित रूप से जिले में कुपोषण दूर करने में सहायक सिद्ध होंगे।

डा. नीलिमा तिवारी
(महिला बाल विकास अधिकारी)
जिला सिवनी (म.प्र.)
News & Event आंगनवाडीवार बच्चो की सूचि के लिए
यहाँ क्लिक करें
lwpuk
u;s lsok fe= dsanz lapkydks dk iath;u i=d gSA
Anganwadi is a government sponsored child-care and mother-care center in India.
view more Anganwadi is a government sponsored child-care and mother-care center in India.
view more

coppyright © 2011
Designed & Developed by Sony Computer Education